CM योगी ने कोरोना संक्रमण को लेकर मंत्रियों को किया सतर्क, कहा-घर या दफ्तर में न जुटाएं भीड़

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ने लगा है। प्रदेश सरकार के कई मंत्री और विधायक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने मंत्रियों को सतर्क करने के साथ ही उन्हें सलाह दी है कि घर या कार्यालय में भीड़ न जुटाएं।

कोरोना के लक्षण नजर आने पर अपनी और अपने परिजनों की जांच जरूर कराएं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से बचने के लिए अपने मंत्रियों को कम से कम लोगों से संपर्क में आने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मंत्रियों को कहा गया है कि वह अपने घर और दफ्तर में मिलने वालों की भीड़ जमा न करें। इसके साथ ही बेहद जरूरी होने पर ही वह फील्ड में जाएं।

उन्होंने कहा कि मंत्री भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अपने घर और दफ्तर को पूरी तरह से सैनिटाइज कराएं। बता दें कि, कोरोना की चपेट में प्रदेश सरकार के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, धर्म सिंह सैनी, चेतन चौहान, उपेंद्र तिवारी और रघुराज सिंह कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद सीएम योगी ने सभी को सख्त निर्देश दिया है। गौरतलब है कि सीएम योगी ने यूपी में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए मोबाइल वैन के जरिए हर मोहल्ले में जांच के निर्देश दिये हैं।

सीएम ने निर्देश दिया है कि शीघ्र आरटी-पीसीआर को मोबाइल वैन के जरिए हर घर तक पहुंचाया जाए। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच हो सके। अधिक से अधिक जांच से ही संक्रमण को कंट्रोल किया जा सकेगा। एक बार फिर जांच को हर रोज 50 हजार तक पहुंचाने का सीएम योगी ने निर्देश दिया है।

इसके साथ एल-1 कोविड अस्पतालों और बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बिना लक्षण वाले मरीजों को एल-1 अस्पतालों में भर्ती किया जाएगा। सरकार ने सैनिटाइजेशन के लिए भी अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *