UP Budget: बजट में किसान, युवा, महिला से लेकर सभी का रखा गया ख्याल, जानिए खास बातें…

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली भाजपा सरकार ने आज अपनी सरकार का सबसे बड़ा बजट पेश किया है। इस बजट के जरिए किसान, युवा, असंगठित क्षेत्रों के मजदूर समेत अन्य वर्गों के हितों का ख्याल रखा गया है। बजट का आकार 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ रुपये का है। जिसमें 27 हजार 598 करोड़ 40 लाख (27,598.40 करोड़) रुपये की नई योजनाएं शामिल की गईं हैं।

इस बजट में असगंठित क्षेत्र के मजदूरों को 5 लाख रुपये का मुफ्त इलाज और दो लाख रुपये तक की सामाजिक सुरक्षा देने के साथ ही काम के हिसाब से भुगतान करने की बात कही गई है। आईए जानते हैं बजट में क्या—क्या है खास….

अयोध्या के लिए 140 करोड़ा का ऐलान
बजट में अयोध्या नगरी का खास ख्याल रखा गया है। इस बजट में अयोध्या नगरी के सर्वांगीण विकास की योजना हेतु 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव है। इसके अलावा लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के निर्माण हेतु 50 करोड़ रुपये की घोषणा की गई है।

मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा का निर्माण
प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में बन रहे निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा रखा गया है। इसके लिए बजट में 101 करोड़ रुपये का प्रस्ताव रखा गया है। वहीं, तीन वर्षों में उत्तर प्रदेश में ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स की संख्या 4 से बढ़कर 7 हो गई।

किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य
उत्तर प्रदेश की योागी सरकार ने इस बजट में किसानों का खास ख्याल रखा है। इसके साथ ही 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के लिए बजट में 100 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं। इसके साथ ही सीएम कृषि दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत 600 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा देने के लिए 700 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था की गई है। रियायती दरों पर किसानों को फसली ऋण उपलब्ध कराने के लिए 400 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। साथ ही प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान के लिए वर्ष 2021-22 के लिए 15 हजार सोलर पंपों की स्थापना का लक्ष्य निर्धारित किया है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए 1107 करोड़ रुपये का ऐलान
बजट में पूर्वांचल के विकास का भी खास ध्यान रखा गया है। इसको लेकर पूर्वाज्ञंचल एक्सप्रेस वे के लिए बजट में 1107 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया है। इसके साथ ही गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 860 करोड़ रुपये का ऐलान किया है। साथ ही
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए 1492 करोड़ रुपये का ऐलान किया। गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण हेतु 7200 करोड़ रुपये और निर्माण कार्य के लिए 489 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था की।

बजट में महिलाओं के लिए कई खास योजनाएं
योगी सरकार की अगुवाई वाली भाजपा सरकार में महिलाओं के लिए पहले से ही कई योजनाएं संचालित हो रहीं हैं। वहीं, अब बजट में भी महिलाओं के लिए खास ध्यान रखा गया है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को और परिष्कृत कर लागू करने का निर्णय, जिसके अंतर्गत सभी पात्र बालिकाओं को टैबलेट उपलब्ध कराने के लिए 1200 करोड़ रुपये की व्यवस्था। महिलाओं एवं बच्चों में कुपोषण की समस्या के निदान के लिए मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना क्रियान्वित की जाएगी। इसके लिए 100 करोड़ रुपये की घोषणा की गई है। पुष्टाहार कार्यक्रम के लिए 4094 करोड़ रुपये और राष्ट्रीय पोषण अभियान के लिए 415 करोड़ रुपये बजट की घोषणा। सरकार ने महिला सामर्थ्य योजना के नाम से नई योजना का किया एलान। 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था की।

युवाओं के लिये
“अभ्युदय” योजना हेतु 20 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित, संस्कृत विद्यालयों में अध्ययनरत् निर्धन छात्रों को गुरूकुल पद्धति के अनुरूप निःशुल्क छात्रावास एवं भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगा।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग
प्रदेश में एक जनपद एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना हेतु 250 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित किया गया है। यूपी स्टेट स्पिनिंग कम्पनी की बन्द पड़ी कताई मिलों की परिसम्पत्तियों को पुनर्जीवित कर पीपीपी मोड में औद्योगिक पार्क/आस्थान/ क्लस्टर स्थापित कराये जाने का निर्णय। इस हेतु 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना हेतु 100 करोड़ रूपये का बजट व्यवस्था प्रस्तावित किया। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के पारम्परिक कारीगरों हेतु विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लिये 30 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

खादी एवं ग्रामोद्योग
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत सामान्य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को 10 लाख रुपये तक ब्याज रहित ऋण तथा सामान्य वर्ग के पुरूष लाभार्थियों को 4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई। माटीकला की पराम्परागत कला एवं कारीगरों को संरक्षित / संवर्धित करने हेतु बजट में 10 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।

हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग
वित्तीय वर्ष 2021-2022 में वस्त्रोद्योग के क्षेत्र में 25,000 रोजगार सृजन का लक्ष्य रखा गया है। पावरलूम बुनकरों को राज्य सरकार द्वारा रियायती दर पर विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था गयी गयी है।

आई.टी. एवं इलेक्ट्रॉनिक्स
यमुना एक्सप्रेस-वे में जेवर एयरपोर्ट के समीप एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी की स्थापना की जाएगी। बुन्देलखण्ड में रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है। लखनऊ में एयरपोर्ट के सामने नादरगंज में 40 एकड़ क्षेत्रफल में पीपीपी मॉडल पर अत्याधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी कॉम्प्लेक्स का निर्माण प्रस्तावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *