पीएम मोदी ने किया रानी लक्ष्मीबाई केंद्रीय कृषि विवि का लोकार्पण, कहा-देश को आत्मनिर्भर बनाने में रहेगी अहम भूमिका

झांसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रानी लक्ष्मीबाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्याल झांसी के शैक्षणिक एवं प्रशासनिक भवन का लोकार्पण किया। इस दौरान पीएम ने कार्यक्रम में लोगों केा संबोधित किया। पीएम ने कहा कि झांसी भारत को आत्मनिर्भर बनाने में अहम भूमिका निभाएगा। पीएम ने कहा कि कभी रानी लक्ष्मीबाई ने बुंदेलखंड की धरती पर गर्जना की थी कि मैं अपनी झांसी नहीं दूंगी।

ऐसे में आज एक नई गर्जना की आवश्यकता है, मेरी झांसी-मेरा बुंदेलखंड। पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के लिए अब झांसी का यह कृषि विश्वविद्यालय पूरी ताकत लगा देगा, एक नया अध्याय लिखेगा। यह तो तय है कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के लिए कृषि की बहुत बड़ी भूमिका की है।

पीएम ने कहा कि कृषि में स्टार्ट अप के नए नए रास्ते खुल रहे हैं। पीएम ने कहा कि कृषि में आत्म निर्भरता बढ़ाने का लक्ष्य यह भी है कि देश के किसानों को उद्यमी बनाया जा सके। किसान ऑर्गेनिक खेती से जुड़ें। अपने ऑर्गेनिक प्रोडक्ट को ग्लोबल स्तर के लिए तैयार करें। आधुनिक तकनीक कृषि से जुड़ी चुनौतियों से निपटने में मदद कर रही है।

इसका एक उदाहरण लगभग 10 राज्यों में हुए टिड्डी दल के हमले के मामले में देखा जा सकता है। इन तकनीकों की मदद से ही सरकार ने टिड्डी दल के हमले से होने वाली क्षति को कम करने में सफलता पाई। पीएम ने कहा कि विद्यालयों में कृषि संबंधित पाठ्यक्रम और उसके व्यवहारिक क्रियान्वयन को लागू करने की आवश्यकता है।

हमारा प्रयास है कि गांवों में माध्यमिक विद्यालयों में कृषि को एक विषय के रूप में पेश किया जाए। इसके साथ पीएम ने कहा कि कृषि से जुड़ी शिक्षा को, उसकी प्रेक्टिकल एप्लीकेशन को स्कूल स्तर पर ले जाना भी आवश्यक है। हमारी सरकार का प्रयास है कि गांव के स्तर पर मिडिल स्कूल लेवल पर ही कृषि के विषय को लागू किया जाए।

इससे दो लाभ होंगे। एक लाभ तो ये होगा कि गांव के बच्चों में खेती से जुड़ी जो एक स्वभाविक समझ होती है, उसका विस्तार होगा। दूसरा लाभ यह होगा कि वो खेती और इससे जुड़ी तकनीक, व्यापार-कारोबार के बारे में अपने परिवार को ज्यादा जानकारी दे पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *